Saturday, 8 July 2017

प्लेंटीमोन और किट्टीपाई का रहस्य

चींटिया प्लेंटीमोन के कमरे में होता है और प्लेंटीमोन चींटिया को हेडफ़ोन लगाकर सुला देता है। दूसरी तरफ लोला भी प्रिंसेस के साथ सो रही होती है कि तभी अचानक एक अजीब सी आवाज से उसकी आँख खुल जाती है। अगली सुबह जब प्लेंटीमोन और प्रिंसेस उठते हैं तो वो देखते हैं कि उनके चेहरे पर किसी ने मेकअप किया है। घर भी चारो तरफ से बिखरा हुआ होता है। दोनों को किचन की तरफ से आवाज आती हैं और वो दोनों वहां जाते हैं।



वो दोनों देखते हैं कि लोला दीवारों पर ड्राइंग कर रही है। प्रिंसेस उसे रोकती है लेकिन वो प्रिंसेस का कहना भी नहीं मानती और फिर से ड्राइंग करने लगती है। फिर प्रिंसेस उस पर गुस्सा करती है और कहती है कि अगर उसने प्रिंसेस का कहना नहीं माना तो उसके लिए ठीक नहीं होगा। प्लेंटीमोन उसे शांत कराता है और कहता है की उन्हें लोला की बात को ध्यान से सुनना चाहिए। प्लेंटीमोन और प्रिंसेस लोला को जैसे ही पकड़ते हैं उतने में लोला रोना शुरू कर देती है। प्रिंसेस के मना करने पर भी लोला रोना बंद नहीं करती। प्रिंसेस कहती है की ये कोई आम बात नहीं है।

प्रिंसेस और प्लेंटीमोन लोला और चींटिया के साथ स्कूल चले जाते हैं। दूसरी तरफ डिंगडिंग और डिंगडोंग दोनों प्रिंसेस को पकड़ने के लिए उनका पीछा करते हैं, लेकिन बबलू और बबली भी उसी रहस्मयी आवाज के कब्जे में आ जाते हैं और वो दोनों डिंगडिंग और डिंगडोंग पर हमला करते हैं। वहां पर लोला प्लेंटीमोन,चींटिया और प्रिंसेस पर हमला करती है। प्रिंसेस गुस्सा हो जाती है और लोला पर हमला करने वाली होती है। फिर प्लेंटीमोन उसे रोकता है और कहता है की लोला का बर्ताब कुछ अलग सा लग है। तभी प्लेंटीमोन चींटिया की मदद से पता करता है कि लोला किसी आवाज से परेशान है।

प्रिंसेस प्लेंटीमोन की मदद से लोला के कान में ईयरप्लग डालती है जिससे आवाज़ बंद हो जाती है। प्रिंसेस कहती है की लोला के साथ जिसने भी ये हरकत की हैं, उसका हश्र बुरा होगा और दोनों अनुमान लगाते हैं कि कहीं इन सब के पीछे किट्टीपाई तो नहीं? चारो वहां जाते हैं जहां किट्टीपाई होती है और वो उसे देखकर कहते हैं कि वो अपनी हरकते बंद कर दे। जैसे ही किट्टीपाई रुक जाती है, बबलू और बबली भी नार्मल हो जाते हैं।

लेकिन किट्टीपाई प्रिंसेस के मना करने पर भी नहीं रूकती और उन सब पर  हमला करती है। किट्टीपाई के हमले से प्रिंसेस और प्लेंटीमोन परेशान हो जाते हैं।  वह जितने भी हमले करते हैं, वह हर बार उनके हमले से बच जाती है। तभी प्रिंसेस प्लेंटीमोन को बताती है कि किट्टीपाई हमेशा इसीलिए बच जाती है क्योंकि वो उनका दिमाग पढ़ती है। डिंगडिंग और डिंगडोंग भी प्रिंसेस का पीछा करते हुए आते हैं और प्रिंसेस को किडनैप करने का प्लान बनाते हैं।

किट्टीपाई अपने मैजिक बॉक्स में प्लेंटीमोन और चींटिया को बंद कर देती है। वह प्रिंसेस पर हमला करने वाली होती है की डिंगडोंग धुंए का बम फेंकता है।  डिंगडिंग उसे मना करता है कि ऐसा करने से कुछ नजर नहीं आएगा। चांडाल चौकड़ी किट्टीपाई को प्रिंसेस समझकर उस पर हमला करती है जिससे किट्टीपाई उन्हें भी मैजिक बॉक्स में बंद कर देती है।

प्लेंटीमोन प्रिंसेस को बचाने के लिए किट्टीपाई के मैजिक बॉक्स को खत्म करके उस पर हमला करता है जिससे किट्टीपाई वूड स्पिरिट से आज़ाद हो जाती है।  अपनी आज़ादी के लिए किट्टीपाई प्लेंटीमोन और प्रिंसेस को धन्यवाद देती है। प्लेंटीमोन और प्रिंसेस किट्टीपाई से उसका राज पूछते हैं। जैसे ही वह बताने वाली होती है, तभी वहां पर वूड स्पिरिट आकर किट्टीपाई को किडनैप करके चली जाती है। किट्टीपाई का वुड स्पिरिट के वश में आने का राज़ दफ़न हो जाता है।  चांडाल चौकडी उसी मैजिक बॉक्स में कैद रहते हैं।

समाप्त !!

Click=>>>>>Hindi Cartoon for more.......