Tuesday, 2 May 2017

प्लेंटीमोन और घास का शैतान - हिंदी कार्टून भाग - २


प्लेंटीमोन हर रोज कि तरह सुबह-सुबह  जादुई दुनिया के सपने देख ही रहा होता है | कि तभी उसकी नींद खुल जाती है और वह देखता है | कि उसकी माँ उसके सामने खड़ी है जो उसे नाश्ता के लिए नीचे बुला रही होती है| हमेशा कि तरह प्लेंटीमोन बिना खाना खाए स्कूल भाग जाता है| जब वह स्कूल पहुँचता है तो अनजाने में कूड़ेदान से टकरा जाता है और तभी वह अपने जादुई सपने के बारे में सोचता है| प्लेंटीमोन  सोचता है के क्यों न इस कूड़ेदान को जादुई शक्ति से उठाया जाये और वह जादुई शक्ति का प्रयोग करने कि असफल कोशिस करता है | ये देख कर स्कूल के बच्चे प्लेंटीमोन को पागल कहने लगते हैं |

इधर प्रिंसेस और लोला जंगल में किटी-पाई का पीछा कर रहे होते हैं लेकिन किटीपाई पकड़ में नही आती और वह बचकर भाग जाती है | इससे प्रिंसेस को अहसास होता है कि वह किटी-पाई को अकेले नहीं पकड़ सकती और उसे प्लेंटीमोन कि जरूरत पड़ेगी| उधर स्कूल कि छुटी होने पर प्लेंटीमोन अपने घर जा रहा होता है तो प्रिंसेस, प्लेंटीमोन को जबरदस्ती अपने साथ जंगल में ले जाती है|

प्लेंटीमोन, प्रिंसेस को पूछता है कि वह उसको जंगले में क्यों ले के आई है|तब प्रिंसेस, प्लेंटीमोन को बताती है कि परलोक से एक बुरी आत्मा धरती पर आई है जो धरती का विनाश करना चाहती है |इसके लिए प्रिंसेस , प्लेंटीमोन को उसकी सहायता करने क लिए कहती है| लेकिन प्लेंटीमोन सहायता करने से मना कर देता है| तब प्रिंसेस उसे समझती है वह भी उस मिशन का हिस्सा है और अकेले वह जादुई शक्ति का प्रयोग नही कर सकता | प्रिंसेस, प्लेंटीमोन को बताती है कि वह  चिंतेश्वर प्रसाद (चिंटीया) कि मदद से ही जादुई शक्ति का प्रयोग कर सकता है| तब प्लेंटीमोन, प्रिंसेस को बताता है कि चिन्तेश्वर उसको पसंद नहीं करता और वह भाग गया है,तब प्रिंसेस चिन्तेश्वर को भी ढूंड कर ले आती है|

दूसरी और किटीपाई घास के शैतान को आदेश देती है कि वह इंसानों को सबक सिखाये| तब घास के शैतान ने अपनी जादुई शक्ति से पुरे शहर को घास से ढक देता है | इधर प्रिंसेस, प्लेंटीमोन, लोला  और चिन्तेश्वर जंगल से शहर कि तरफ आ रहे होते हैं | तो उन्हें पता चलता है कि किसी शैतान ने शहर पर हमला कर दिया है | प्लेंटीमोन और उसके दोस्त सोच ही रहे होते हैं  कि ये हमला किसने किया? कि तभी घास का शैतान उन पर हमला कर देता है | तब लोला, प्रिंसेस कि शक्ति से शैतान पर हमला कर  देती है | लेकिन वह उस घास के शैतान का सामना नहीं कर पाते | तब प्लेंटीमोन अपनी शक्ति का प्रयोग करता है और घास के शैतान को हरा देता है|इसके बाद जब प्लेंटीमोन और उसके दोस्त बात कर रहे होते हैं , तभी किटीपाई वहां आ जाती है और कहती है | कि वह बदला लेने दोबारा आएगी, और इतना कह कर वह गायब हो जाती है |

प्रिंसेस, प्लेंटीमोन से कहती है कि किटीपाई को पकड़ने कि लिए कुछ दिन इस शहर में रहना पड़ेगा | इसके बाद प्लेंटीमोन और उसके दोस्त अपने अपने घर चले जाते हैं | जब प्लेंटीमोन घर पहुँचता है तो, देखता है कि प्रिंसेस पहले से ही उसके घर पर उसकी माँ के साथ मौजूद थी |

तब प्लेंटीमोन, प्रिंसेस को कहता है कि उसे, उसके घर में, उसके कहे  अनुसार ही रहना होगा |

समाप्त !

पंचतंत्र की कहानी - नकली तोता

एक समय की बात हैं जंगल में तोतों का एक झुंड रहता था। झुंड के सभी तोतों को बहुत ज़्यादा और बेमतलब बोलने की बहुत बुरी आदत थी। सभी हर समय ज़ोर-...