Thursday, 13 April 2017

प्लेंटीमोन एपिसोड 1 हिंदी में

प्लेंटीमोन एक असाधारण बालक की कहानी है| जिसे जादुई दुनिया के सपने आते है इसी वजह से वो रोज सुबह देर से उठता है। एक सुबह प्लेंटीमोन को एक सपना आता है जिसमे उसे एक जादुई किताब दिखाई देती है| जिसे पढने में चिंतेश्वर प्रसाद (चिंटीया) उसकी मदद करेगा | और तभी उसकी माँ उसे उठा देती है| और फिर उसे नाश्ते में जैली देती है,पर वो उसे बिना खाए भाग जाता है| जब वो स्कूल पहुंचा तब उसके दोस्त भूतों के बारे में बाते कर रहे थे, तभी प्लेंटीमोन क्लास रूम में आता है, और फिर उसका एक दोस्त प्लेंटीमोन से पूछता है कि बताओ प्लेंटीमोन की भूत होता है या नहीं ? तब प्लेंटीमोन कहता है की अगर मानो तो होता है और ना मानो तो नहीं होता तभी टीचर क्लास में आती है | और सब अपने अपने  बैंच पर बैठ जाते है।

स्कूल की छुट्टी होने के पश्चात् प्लेंटीमोन और उसके मित्र जंगल मै भूतो की खोज करने चले जाते है| जहां प्लेंटीमोन रास्ता भटक जाता है, और वे एक दुसरे से अलग हो जाते है, इधर प्लेंटीमोन का मित्र योगी एक बड़े से पेड़ पर भुत को चुनौती भरा संदेश लिख देता है | (I challenge you) ओर जोर जोर से हँसने लगता है, और वापस घर लौट आते है|


इधर जंगल मे प्लेंटीमोन को जंगल मै एक अजीब सी आवाज़ सुनाई देती है, वो उधर ही चल देता है जंहा से आवाज़ आती है | वंहा देखता है कि चिंतेश्वर किसी पेड़ की शाखा मे उलझा हुआ है| फिर प्लेंटीमोन उसे मुक्त करवाता है, अचानक चिंतेश्वर (प्लेंटीमोन) को लात मरता है और वंहा से भाग जाता है|



प्लेंटीमोन उसके पीछे भागता है| भागते - भागते  अचानक प्रिंसेस (प्रिंसेस और लोला प्लेंटीमोन  के मित्र है, जो कि शैतानी शक्तियों लड़ने मे उसकी मदद करते है|) से टकरा जाता है| और फिर प्रिंसेस अपनी शक्ति से प्रहार करते हुए प्लेंटीमोन को चेतावनी देती है|  कि अगली बार दोबारा टकराया तो माफ़ नहीं करुँगी, उसी समय प्लेंटीमोन के दोस्तों की आवाज सुनाई देती है |


प्लेंटीमोन उसी तरफ भागने लगता है जंहा से आवाज आ रही थी| प्रिंसेस और लोला भी उसके पीछे-पीछे भागने लगते है| अचानक प्लेंटीमोन को घसीटने के निशान दिखाई देते है, ओर झाड़ियो के पीछे से चिंतेश्वर बाहर निकलता है| और प्लेंटीमोन चिंतेश्वर से पूछता है क्या तुम मेरी मदद करने आए हो? अचानक! चिंतेश्वर पर हमला होता है, वो टकलू शैतान का हमला होता है| (“टकलू शैतान” पेड़ से निकला हुआ भुत है, जिस पेड़ पर चुनौती भरा संदेश लिखा हुआ था|),  लोला बताती है, कि ये शैतान है| तभी टकलू शैतान का हमला होता है, चिंतेश्वर और प्लेंटीमोन दोनों को पकड़ लेता है। प्रिंसेस और लोला दोनों को बचाती है| इधर लड़ाई के दौरान चिंतेश्वर और प्लेंटीमोन अचानक! गायब हो जाते है|

फिर प्लेंटीमोन अपने आप को एक जादुई दुनिया मे खड़ा पता है| वंहा उसे सपने वाली जादुई किताब मिलती है, वह किताब उसे बताती है| की वह एक विशेष बालक है, दुनिया मै अच्छे काम के लिए चुनाब हुआ है| और इस काम मे चिंतेश्वर उसकी मदद करेगा| तभी प्लेंटीमोन बोलता है, कि क्या अच्छे कामो को करने के लिए मुझे भी सुपरपावर मिलेगी? तब चींटिया बोलता है, कि जरूर मिलेगी अगर नहीं मिली तो मै अपनी सुपर पॉवर तुम्हे देदूंगा। और फिर प्लेंटीमोन और चितेश्वर दोनों जादुई किताब पर हाथ रखते है, हाथ रखते ही प्लेंटीमोन के पास बहुत सी सुपर शक्ति आ जाती है|

इसके बाद दोनों (प्लेंटीमोन और चिंतेश्वर) वापस उसी स्थान पे आ जाते है, जंहा से वे गायब हुए थे|  इस बार टकलू शैतान से लड़ने मे प्लेंटीमोन मदद करता है| और इस उपरांत हमेशा की तरह बुराई पे अच्छाई की जीत होती है|

समाप्त !